top of page
1920X1005-BKR-updaterd.png

Pratidhwani's
Ballabhpur Ki Roopkatha 

is BACK!!!

Encore Presentation
Feb 23 - 25, 2024
Bellevue Youth Theatre

About the Play|नाटक के विषय में

एक था राजा। उसका नाम था भूपति राय। उसकी एक थी रा... अरे कहाँ!  उसकी कोई रानी नहीं थी!  हो गयी न गड़बड़?  ऐसी भी कोई रूपकथा होती है जिसके राजा की रानी न हो?!  सच पूछिये, तो इस कहानी में उतना दम नहीं है!  कुछ जगहों पर तो सचमुच बहुत कमज़ोर है। पर खैर, यदि आप कहानी सुनने आएँगे, तो हम आपको यह कहानी ज़रूर सुनाएँगे - कमज़ोर हो न हो!  बादल सरकार के इस मूल बंगला नाटक के हिंदी अनुवाद के मंचन में आपको प्रतिध्वनि के कई जाने पहचाने, और कुछ नये चेहरे भी देखने को मिलेंगे! 

Once there was a King. His name was Bhoopati Rai. He had a Quee... Nope! He had no queen. Well that doesn't work! What kind of a fairytale has a king with no queen? To tell you the truth, this isn't a very good tale at all. In fact it is quite weak in some spots. But if you come to listen to our tale, we will be glad to tell it to you! You'll see many of your favorites, and some new faces in this Pratidhwani production of a Hindi translation of Badal Sircar's original Bengali play.

Tickets & Showtimes

TICKETS

Online

General: $20

Generous: $30

Discounted: $10

SHOWTIME

Feb 23rd, 24th and 25th.

Fridays and Saturdays at 7:30

Sundays at 2:00

Bellevue Youth Theatre

16051 NE 10th St,

Bellevue, WA 98008

  • Sun, Apr 28
    Apr 28, 2024, 5:00 PM – 8:00 PM
    Sai Temple Hall, 18109 NE 76th St unit 108, Redmond, WA 98052, USA
    Apr 28, 2024, 5:00 PM – 8:00 PM
    Sai Temple Hall, 18109 NE 76th St unit 108, Redmond, WA 98052, USA
    Pratidhwani uses PayPal for credit card transactions. You DO NOT need a PayPal account to buy tickets. Click on the "Pay with Debit or Credit Card" button if you don't have a PayPal account. You may be prompted to enter your email address one more time (seems to be browser dependent).
    Share
  • Time is TBD
    Time is TBD
    Kirkland Performance Center, 350 Kirkland Ave, Kirkland, WA 98033, USA
    Time is TBD
    Kirkland Performance Center, 350 Kirkland Ave, Kirkland, WA 98033, USA
    An Evening of Ghazals, Qawwalis, Semi Classical Film and Sufiana Songs. All tickets are +$3 at the gate.
    Share

हमारी मंडली | Our Team

लेखक | Written by
बादल सरकार | Badal Sircar

निर्देशक | Directed by
अगस्त्य कोहली | Agastya Kohli


भिनेता | Cast:
अभिजीत राणे, अमृता सीरा, अर्जुन मेहरा, अंकुर गुप्त, कौशिक मित्रा, चिन्मयी भानु, नीलेश शहदादपुरी, प्रतीक शाह, वरूण कैंथ, संचीता प्रधान

Abhijeet Rane, Amrita Seera, Arjun Mehra, Ankur Gupta, Kaushik Mitra, Chinmayee Bhanu, Nilesh Shadadpuri, Pratik Shah, Varun Kainth, Sancheeta Pradhan
 
प्रचार | Marketing
अर्चना शारदा, अगस्त्य कोहली, समीहिता मोहन | Archna Sharda, Agastya Kohli, Sameehita Mohan
 
मंच सज्जा, संपत्ति, परिधान | Scenic, Props & Costume Design
पल्लवी गर्ग | Pallavi Garg
 
मंच संचालन | Stage Management
नेहा गोदवाल | Neha Godwal
अभिजीत १९९९ में सियैटल आए, और पिछले २० वर्षों से यहाँ के रंगीले नाटक और फ़िल्म समुदाय के अंग बने हुए हैं। वे सियैटल, सैन होज़े, पोर्टलैंड, शिकागो और वैन्कूवर में नाटक कर चुके हैं। पिछले कुछ वर्षों में पोनी वर्ल्ड थियेटर के 'लैंग्वुएज रूम्ज़' और फ़ौर्वर्ड फ़्लक्स के 'ए शौर्ट हिस्टरी औफ़ अमल' (२०१८), आर्ट्स वेस्ट के 'द हू एंड द वौट (२०१७), पोर्क फ़िल्ड प्रोडक्शन्स के 'हैंड औफ़ टैलन्स' (२०१६), तथा प्रतिध्वनि की प्रस्तुतियों, 'डान्स लाइक अ मैन', 'एवरी थिंग बट द पेपर', तथा 'द बैन्यन ट्री' में उन्होंने अभिनय किया है। अभिजीत लघु फ़िल्मों 'बिफ़ोर आई गो' और 'मिस्टर बाला' तथा फ़ीचर फ़िल्म 'अनु' में भी काम कर चुके हैं।  

Abhijeet moved to Seattle in 1999 and has been part of the vibrant drama and film community in Seattle for the past 20 years - performing in Seattle, San Jose, Portland, Chicago and Vancouver. Most recently, he appeared in Pony World Production’s “Language Rooms”, Forward Flux's production of a A Short History of Amal (2018), Arts West's The Who and The What (2017), Pork Filled Productions' Hand of Talons (2016) and various Pratidhwani productions including Dance Like a Man in 2015,  Everything But The Paper (2014) and The Banyan Tree (2013). Abhijeet has also done a few short films including Before I Go, Mr. Bala and the feature film, Anu.

अभिजीत राणे | Abhijeet Rane (हालदार | Haldar)

अभिजीत १९९९ में सियैटल आए, और पिछले २० वर्षों से यहाँ के रंगीले नाटक और फ़िल्म समुदाय के अंग बने हुए हैं। वे सियैटल, सैन होज़े, पोर्टलैंड, शिकागो और वैन्कूवर में नाटक कर चुके हैं। पिछले कुछ वर्षों में पोनी वर्ल्ड थियेटर के 'लैंग्वुएज रूम्ज़' और फ़ौर्वर्ड फ़्लक्स के 'ए शौर्ट हिस्टरी औफ़ अमल' (२०१८), आर्ट्स वेस्ट के 'द हू एंड द वौट (२०१७), पोर्क फ़िल्ड प्रोडक्शन्स के 'हैंड औफ़ टैलन्स' (२०१६), तथा प्रतिध्वनि की प्रस्तुतियों, 'डान्स लाइक अ मैन', 'एवरी थिंग बट द पेपर', तथा 'द बैन्यन ट्री' में उन्होंने अभिनय किया है। अभिजीत लघु फ़िल्मों 'बिफ़ोर आई गो' और 'मिस्टर बाला' तथा फ़ीचर फ़िल्म 'अनु' में भी काम कर चुके हैं।  

Abhijeet moved to Seattle in 1999 and has been part of the vibrant drama and film community in Seattle for the past 20 years - performing in Seattle, San Jose, Portland, Chicago and Vancouver. Most recently, he appeared in Pony World Production’s “Language Rooms”, Forward Flux's production of a A Short History of Amal (2018), Arts West's The Who and The What (2017), Pork Filled Productions' Hand of Talons (2016) and various Pratidhwani productions including Dance Like a Man in 2015,  Everything But The Paper (2014) and The Banyan Tree (2013). Abhijeet has also done a few short films including Before I Go, Mr. Bala and the feature film, Anu.

अर्जुन का नाटक जगत से परिचय स्कूल के आरंभिक दिनों में ही हो गया, और तब से उनकी सुरुचि इस में बनी रही है. स्कूल और कॉलेज के दिनों में कई नाटकों में अभिनय के अतिरिक्त, उन्होंने दूसरे विश्वविद्यालयों के लिए नाटक निर्देशन का काम वृत्ति के लिए पहली नौकरी के रूप में किया। उनकी पसंदीदा पेशकशों में 'एक रुका हुआ फैसला', 'पार्क', 'रात ये बाकी है', तथा 'मरणोपरांत' शामिल हैं. अर्जुन  को एक राष्ट्रीय टीवी चैनल के लिए दो हिंदी लघु फिल्मों में काम करने का अवसर भी मिल चुका है. 'बल्लभपुर की रूपकथा' प्रतिध्वनि के साथ अर्जुन का पहला अनुभव है.   

Arjun got introduced to theatre and acting pretty early during his school days and fell in love with it. Apart from acting in numerous plays during school and college, he directed plays for other universities as his first paid job. Some of his favorite performances have been Ek Ruka Hua Faisla, Park, Raat Yeh Baaki Hai, and Marnouprant. Arjun also had the opportunity to act in two Hindi short films for a national TV channel. Ballabhpur Ki Roopkatha will be Arjun's debut with Pratidhwani.  

अर्जुन मेहरा | Arjun Mehra (मनोहर | Manohar)

अर्जुन का नाटक जगत से परिचय स्कूल के आरंभिक दिनों में ही हो गया, और तब से उनकी सुरुचि इस में बनी रही है. स्कूल और कॉलेज के दिनों में कई नाटकों में अभिनय के अतिरिक्त, उन्होंने दूसरे विश्वविद्यालयों के लिए नाटक निर्देशन का काम वृत्ति के लिए पहली नौकरी के रूप में किया। उनकी पसंदीदा पेशकशों में 'एक रुका हुआ फैसला', 'पार्क', 'रात ये बाकी है', तथा 'मरणोपरांत' शामिल हैं. अर्जुन को एक राष्ट्रीय टीवी चैनल के लिए दो हिंदी लघु फिल्मों में काम करने का अवसर भी मिल चुका है. 'बल्लभपुर की रूपकथा' प्रतिध्वनि के साथ अर्जुन का पहला अनुभव है.   

Arjun got introduced to theatre and acting pretty early during his school days and fell in love with it. Apart from acting in numerous plays during school and college, he directed plays for other universities as his first paid job. Some of his favorite performances have been Ek Ruka Hua Faisla, Park, Raat Yeh Baaki Hai, and Marnouprant. Arjun also had the opportunity to act in two Hindi short films for a national TV channel. Ballabhpur Ki Roopkatha will be Arjun's debut with Pratidhwani.  

कौशिक दर्शकों और श्रोताओं के सम्मुख, मंच पर, सबसे अधिक आनंद पाते हैं। प्रतिध्वनि के साथ २०२२ में 'सैयां भये कोतवाल' के बाद पुनः मंच पर लौटने के लिए बहुत उत्साहित हैं. वे कृत्रिम प्रज्ञा के अभियंता के रूप में कार्यरत हैं, किंतु नाटक व संगीत के प्रति उनका बराबर का अनुराग है। प्रतिध्वनि के अतिरिक्त, कॉलेज और कंपनियों के कार्यक्रमों भी भाग ले चुके हैं. खाली समय में कौशिक शारीरिक व्यायाम, संगीत साधना, विज्ञान सम्बन्धी पॉडकास्ट संचालन, और श्रव्य पुस्तकें सुनना पसंद करते हैं. 

Kaushik is happiest when performing on stage in front of a live audience. He's excited to be back on stage with Pratidhwani after his debut in 2022 with the Hindi play, Sayiyan Bhai Kotwal. During the day, Kaushik works as an AI Engineer, but is equally passionate about theater and music. He's been performing in college, corporate events, and with Pratidhwani since 2022. In his spare time, he dedicates himself to various interests, including fitness training, indulging in solo jam sessions, hosting engaging science outreach podcasts, and immersing himself in the world of audiobooks.

कौशिक मित्रा | Kaushik Mitra (श्रीनाथ | Shreenath)

कौशिक दर्शकों और श्रोताओं के सम्मुख, मंच पर, सबसे अधिक आनंद पाते हैं। प्रतिध्वनि के साथ २०२२ में 'सैयां भये कोतवाल' के बाद पुनः मंच पर लौटने के लिए बहुत उत्साहित हैं. वे कृत्रिम प्रज्ञा के अभियंता के रूप में कार्यरत हैं, किंतु नाटक व संगीत के प्रति उनका बराबर का अनुराग है। प्रतिध्वनि के अतिरिक्त, कॉलेज और कंपनियों के कार्यक्रमों भी भाग ले चुके हैं. खाली समय में कौशिक शारीरिक व्यायाम, संगीत साधना, विज्ञान सम्बन्धी पॉडकास्ट संचालन, और श्रव्य पुस्तकें सुनना पसंद करते हैं. 

Kaushik is happiest when performing on stage in front of a live audience. He's excited to be back on stage with Pratidhwani after his debut in 2022 with the Hindi play, Sayiyan Bhai Kotwal. During the day, Kaushik works as an AI Engineer, but is equally passionate about theater and music. He's been performing in college, corporate events, and with Pratidhwani since 2022. In his spare time, he dedicates himself to various interests, including fitness training, indulging in solo jam sessions, hosting engaging science outreach podcasts, and immersing himself in the world of audiobooks.

वरुण एक दशक से रंगकर्मी रहे हैं, उन्होंने माइस्नर तकनीक में प्रशिक्षण प्राप्त किया है, तथा वे भारत और सियैटल में मंचों पर खेल चुके हैं। वे हिन्दी, अंग्रेजी तथा उर्दू जानते हैं, और हाल ही में उन्होंने सेंटरस्टेज के नाटक 'स्पाइडर्स वेब' में भाग लिया है। अन्य उल्लेखनीय प्रयोगों में सियैटल रेपर्टरी का 'द टेम्पेस्ट' तथा ऐस इफ़ थियेटर कंपनी का 'क्राय इट आउट' शामिल हैं।वे प्रतिध्वनि के मंच पर लगभग साल भर बाद वापसी के लिए उत्सुक और उत्साहित हैं। सियैटल के नाट्य समुदाय के प्रति वे कृतज्ञ हैं कि उन्हें इतनी सहजता से ऐसा स्वागत मिला है। वे अपनी जीवन साथी ज्योति को विशेष धन्यवाद देते हैं जिन्होंने वरुण की कलात्मक रुचियों को स्वीकारा है और रिहर्सल के लिए वरुण की घर से लंबी अनुपस्थिति के प्रति उदारता दिखाई है।

With a decade of theatrical experience, and training in the Meisner technique, Varun has performed on stages in India and Seattle. Fluent in English, Hindi, and Urdu, he recently completed the Centerstage production of "Spider's Web". Other notable works include "The Tempest" with Seattle Rep and "Cry it Out" with As If Theatre company. He eagerly anticipates his return to Pratidhwani after a year-long hiatus. Immensely grateful to the Seattle theatre community for their acceptance, he extends special thanks to his partner, Jyothi, for embracing his artistic quirks and showing understanding during his extended rehearsal absences from home.

वरुण कैंथ | Varun Kainth

वरुण एक दशक से रंगकर्मी रहे हैं, उन्होंने माइस्नर तकनीक में प्रशिक्षण प्राप्त किया है, तथा वे भारत और सियैटल में मंचों पर खेल चुके हैं। वे हिन्दी, अंग्रेजी तथा उर्दू जानते हैं, और हाल ही में उन्होंने सेंटरस्टेज के नाटक 'स्पाइडर्स वेब' में भाग लिया है। अन्य उल्लेखनीय प्रयोगों में सियैटल रेपर्टरी का 'द टेम्पेस्ट' तथा ऐस इफ़ थियेटर कंपनी का 'क्राय इट आउट' शामिल हैं।वे प्रतिध्वनि के मंच पर लगभग साल भर बाद वापसी के लिए उत्सुक और उत्साहित हैं। सियैटल के नाट्य समुदाय के प्रति वे कृतज्ञ हैं कि उन्हें इतनी सहजता से ऐसा स्वागत मिला है। वे अपनी जीवन साथी ज्योति को विशेष धन्यवाद देते हैं जिन्होंने वरुण की कलात्मक रुचियों को स्वीकारा है और रिहर्सल के लिए वरुण की घर से लंबी अनुपस्थिति के प्रति उदारता दिखाई है।

With a decade of theatrical experience, and training in the Meisner technique, Varun has performed on stages in India and Seattle. Fluent in English, Hindi, and Urdu, he recently completed the Centerstage production of "Spider's Web". Other notable works include "The Tempest" with Seattle Rep and "Cry it Out" with As If Theatre company. He eagerly anticipates his return to Pratidhwani after a year-long hiatus. Immensely grateful to the Seattle theatre community for their acceptance, he extends special thanks to his partner, Jyothi, for embracing his artistic quirks and showing understanding during his extended rehearsal absences from home.

अमृता सियैटल क्षेत्र में १९९४ से हैं। वे दो होनहार बच्चों की गर्व से भरी माँ हैं, और उनके पास एक प्यारा लेकिन बिगड़ा हुआ कुत्ता भी है। ख़ाली समय में वे नए और पुराने मित्रों के साथ समय बिताने के लिए यात्रा और भ्रमण की शौक़ीन हैं। उन्होंने स्कूल के दिनों नाटकों में काम करना शुरु किया, और २०१३ में प्रतिध्वनि के साथ अपने पहले नाटक 'बैन्यन ट्री' में मंच पर उतरीं। व्यवसाय से अमृता स्थायी संपत्ति मध्यग हैं और ग्राहकों को उनके मनपसंद मकानों की खोज में सहायता करती हैं। क्या उनका यह अनुभव प्रतिध्वनि प्रस्तुति 'बल्लभपुर की रूपकथा' में उनके पात्र 'स्वप्ना' के लिए सहायक होगा?

Amrita has called Seattle her home since 1994. She is a proud mom of two kids and one adorable yet spoiled pup. In her free time, you can find her on a flight to somewhere new or spending time with new and old friends. Her career in acting started young with plays in middle and high school. She rediscovered her passion for the stage in 2013 doing her first play with Pratidhwani in the play ‘Banyan tree. ‘ Professionally, Amrita is a realtor helping people find their dream homes. Is her expertise of real estate helping her character Swapna in Pratidhwani ‘s production of Ballabhpur ki Roopa katha, in making the right decision?

अमृता सीरा | Amrita Seera (स्वप्ना | Swapna)

अमृता सियैटल क्षेत्र में १९९४ से हैं। वे दो होनहार बच्चों की गर्व से भरी माँ हैं, और उनके पास एक प्यारा लेकिन बिगड़ा हुआ कुत्ता भी है। ख़ाली समय में वे नए और पुराने मित्रों के साथ समय बिताने के लिए यात्रा और भ्रमण की शौक़ीन हैं। उन्होंने स्कूल के दिनों नाटकों में काम करना शुरु किया, और २०१३ में प्रतिध्वनि के साथ अपने पहले नाटक 'बैन्यन ट्री' में मंच पर उतरीं। व्यवसाय से अमृता स्थायी संपत्ति मध्यग हैं और ग्राहकों को उनके मनपसंद मकानों की खोज में सहायता करती हैं। क्या उनका यह अनुभव प्रतिध्वनि प्रस्तुति 'बल्लभपुर की रूपकथा' में उनके पात्र 'स्वप्ना' के लिए सहायक होगा?

Amrita has called Seattle her home since 1994. She is a proud mom of two kids and one adorable yet spoiled pup. In her free time, you can find her on a flight to somewhere new or spending time with new and old friends. Her career in acting started young with plays in middle and high school. She rediscovered her passion for the stage in 2013 doing her first play with Pratidhwani in the play ‘Banyan tree. ‘ Professionally, Amrita is a realtor helping people find their dream homes. Is her expertise of real estate helping her character Swapna in Pratidhwani ‘s production of Ballabhpur ki Roopa katha, in making the right decision?

अंकुर अपने स्कूली दिनों में पहली बार मंच पर मंगल पांडे के रूप में प्रकट हुए, और तभी से वे नाटक, वादविवाद और मंच से जुड़ी कई गतिविधियों से संबद्ध रहे हैं। सियैटल में यह यात्रा जारी रही, और लगभग १० नाटकों में बतौर अभिनेता, और ६ बौलीवुड नूत्य-नाटकों में लेखक, निर्देशक और अभिनेता के रूप में भाग ले चुके हैं। वे कई संगीत और नृत्य के कार्यक्रमों के सूत्रधार रह चुके हैं और अवसर मिलने पर कविता लिखने में भी रुचि रखते हैं। मंच से परे, अंकुर २०१३ से प्रतिध्वनि के कोषाध्यक्ष का काम सँभाले हुए हैं, और कई कार्यक्रमों का मंच-संचालन भी कर चुके हैं। बल्लभपुर की रूपकथा में भूपति की भूमिका निभाने को अंकुर बहुत उत्साहित है।  

Ankur first appeared on stage as Mangal Pandey during his primary school days. Ever since, he has been an active participant in debating, dramatics or anything that involves stage. The journey continued in Seattle, with his participation in 10+ plays as an actor, and in 6 bollywood dance dramas as script writer/actor/ director. He is often seen MCing music concerts and dance shows, and also tries his hand at poetry. To support Pratidhwani's mission off stage, he has been serving as treasurer since 2013 and as stage manager for many of Pratidhwani productions. He is super excited to play Bhupati in Pratidhwani's production of Ballabhpur Ki Roopkatha.

अंकुर गुप्त | Ankur Gupta (भूपति | Bhoopati)

अंकुर अपने स्कूली दिनों में पहली बार मंच पर मंगल पांडे के रूप में प्रकट हुए, और तभी से वे नाटक, वादविवाद और मंच से जुड़ी कई गतिविधियों से संबद्ध रहे हैं। सियैटल में यह यात्रा जारी रही, और लगभग १० नाटकों में बतौर अभिनेता, और ६ बौलीवुड नूत्य-नाटकों में लेखक, निर्देशक और अभिनेता के रूप में भाग ले चुके हैं। वे कई संगीत और नृत्य के कार्यक्रमों के सूत्रधार रह चुके हैं और अवसर मिलने पर कविता लिखने में भी रुचि रखते हैं। मंच से परे, अंकुर २०१३ से प्रतिध्वनि के कोषाध्यक्ष का काम सँभाले हुए हैं, और कई कार्यक्रमों का मंच-संचालन भी कर चुके हैं। बल्लभपुर की रूपकथा में भूपति की भूमिका निभाने को अंकुर बहुत उत्साहित है।  

Ankur first appeared on stage as Mangal Pandey during his primary school days. Ever since, he has been an active participant in debating, dramatics or anything that involves stage. The journey continued in Seattle, with his participation in 10+ plays as an actor, and in 6 bollywood dance dramas as script writer/actor/ director. He is often seen MCing music concerts and dance shows, and also tries his hand at poetry. To support Pratidhwani's mission off stage, he has been serving as treasurer since 2013 and as stage manager for many of Pratidhwani productions. He is super excited to play Bhupati in Pratidhwani's production of Ballabhpur Ki Roopkatha.

चिन्मयी को कथाओं के संसार में विचरण बहुत अच्छा लगता है. सात साल की अतिसक्रिय उम्र में उनका परिचय 'नाट्यछटा' से हुआ, जो कि नाटकीय एकल वाचन का एक रूप है। फिर न जाने कैसे, भारतीय फिल्म और टेलिविज़न संस्थान, पुणे द्वारा निर्मित एक लघु फ़िल्म में अवसर मिला, और वे नाटक और रेडियो कार्यक्रमों में काम करती रहीं। कुछ समय अभियांत्रिकी की तैयारी में मंच से परे रहीं, पर फिर अंतर-कौलेज नाट्य प्रतिस्पर्धा के माध्यम से लेखन और संगीत से जुड़ीं। वे सियैटल २०१९ में आईं, और २०२२ में पेंग्विन प्रोडक्शन्स के 'फ़ाइंडिँग ट्रेल्स' और प्रतिध्वनि के 'कमिंग होम' एकलवाचन के रास्ते पुनः थियेटर को पाया। एक ओर यह मंशा  है कि वे हर अलौकिक शक्ति के डर को हरा उस से ऊपर उठ पाएँगी, और दूसरी ओर वे इस भयावह हास्य नाटक के मध्य आ पड़ी हैं।  

Chinmayee loves getting lost in the world of stories. Being a very hyper 7 year old, she was introduced to an artform called "Natyachhata", which is best translated as a type of dramatic monologue. From being a clueless kid starring in a Film & Television Institute of India (FTII) short film, Chinmayee kept on pursuing drama and radio shows throughout her childhood. Engineering prep consumed her life for a short span, but she found her way back to theater through competitive inter-collegiate drama that introduced her to the world of writing & live music. Chinmayee moved to Seattle in late 2019 and rekindled her theatre journey in 2022 with Penguin Productions 'Finding Trails' and Pratidhwani's 'Coming Home' monologue series. With an agenda of overcoming her fears of all things supernatural, she now finds herself right in the middle of a hauntingly hilarious show.

चिन्मयी भानु | Chinmayee Bhanu (संजीवनी | Sanjeevani)

चिन्मयी को कथाओं के संसार में विचरण बहुत अच्छा लगता है. सात साल की अतिसक्रिय उम्र में उनका परिचय 'नाट्यछटा' से हुआ, जो कि नाटकीय एकल वाचन का एक रूप है। फिर न जाने कैसे, भारतीय फिल्म और टेलिविज़न संस्थान, पुणे द्वारा निर्मित एक लघु फ़िल्म में अवसर मिला, और वे नाटक और रेडियो कार्यक्रमों में काम करती रहीं। कुछ समय अभियांत्रिकी की तैयारी में मंच से परे रहीं, पर फिर अंतर-कौलेज नाट्य प्रतिस्पर्धा के माध्यम से लेखन और संगीत से जुड़ीं। वे सियैटल २०१९ में आईं, और २०२२ में पेंग्विन प्रोडक्शन्स के 'फ़ाइंडिँग ट्रेल्स' और प्रतिध्वनि के 'कमिंग होम' एकलवाचन के रास्ते पुनः थियेटर को पाया। एक ओर यह मंशा  है कि वे हर अलौकिक शक्ति के डर को हरा उस से ऊपर उठ पाएँगी, और दूसरी ओर वे इस भयावह हास्य नाटक के मध्य आ पड़ी हैं।  

Chinmayee loves getting lost in the world of stories. Being a very hyper 7 year old, she was introduced to an artform called "Natyachhata", which is best translated as a type of dramatic monologue. From being a clueless kid starring in a Film & Television Institute of India (FTII) short film, Chinmayee kept on pursuing drama and radio shows throughout her childhood. Engineering prep consumed her life for a short span, but she found her way back to theater through competitive inter-collegiate drama that introduced her to the world of writing & live music. Chinmayee moved to Seattle in late 2019 and rekindled her theatre journey in 2022 with Penguin Productions 'Finding Trails' and Pratidhwani's 'Coming Home' monologue series. With an agenda of overcoming her fears of all things supernatural, she now finds herself right in the middle of a hauntingly hilarious show.

संचीता की अभिनय यात्रा शुरू हुई जब वे केवल ३ वर्ष की थीं, और उन्होंने कभी मुड़ कर वापिस नहीं देखा. पढाई के दिनों में वे नाटक मंडलियों के साथ सक्रिय रहीं, और 'नवरस' से नाटक में डिप्लोमा प्राप्त किया. वे २०२२ में अमरीका आयीं और यहां उनका यह पहला नाटक है. वे बल्लभपुर की रूपकथा में छन्दा का पात्र निभाने को बहुत उत्साहित हैं.   

Sancheeta started her acting journey when she was 3 years old. Since then she has never looked back. She was active in school and college theatre groups and pursued her Diploma in Theatre in "Navarasa". She recently moved to the US in 2022 and this is her first play in the States. She is really excited to play the role of Chhanda in Ballabhpur ki Roopkatha. 

संचीता प्रधान | Sancheeta Pradhan (छंदा | Chhanda)

संचीता की अभिनय यात्रा शुरू हुई जब वे केवल ३ वर्ष की थीं, और उन्होंने कभी मुड़ कर वापिस नहीं देखा. पढाई के दिनों में वे नाटक मंडलियों के साथ सक्रिय रहीं, और 'नवरस' से नाटक में डिप्लोमा प्राप्त किया. वे २०२२ में अमरीका आयीं और यहां उनका यह पहला नाटक है. वे बल्लभपुर की रूपकथा में छन्दा का पात्र निभाने को बहुत उत्साहित हैं.   

Sancheeta started her acting journey when she was 3 years old. Since then she has never looked back. She was active in school and college theatre groups and pursued her Diploma in Theatre in "Navarasa". She recently moved to the US in 2022 and this is her first play in the States. She is really excited to play the role of Chhanda in Ballabhpur ki Roopkatha. 

The play runs about 2.5 hours including one 15 min intermission.

Age Recommendation: Younger patrons may get restless

We believe that our patrons can determine what is offensive or appropriate for their children and for themselves. We don’t create age restrictions but do our best to offer content advisories for each show.

bottom of page